Trending

हाल ही की पोस्ट

वेद का अंग ज्योतिष

वेद का अंग ज्योतिष

ज्योतिष वेद का अंग (आंख) :-  यह ज्योतिष शास्त्र काल विज्ञापक शास्त्र है। मुहूर्त देखकर कि…
शब्दरूप याद करने के सरल नियम

शब्दरूप याद करने के सरल नियम

रामादि शब्दरूप  याद करने के नियम:-    किसी भी भाषा में प्रवीणता पाने हेतु उस भाषा का व्य…
विवाह के पूर्व गुण मिलाना क्यों जरूरी है ?

विवाह के पूर्व गुण मिलाना क्यों जरूरी है ?

विवाह के पूर्व ( कुंडली ) गुण मिलाना क्यों जरूरी है ?              शादी से पूर्व वरवधू …
संस्कृत वर्णमाला व उच्चारण स्थान। संस्कृत व्याकरण।

संस्कृत वर्णमाला व उच्चारण स्थान। संस्कृत व्याकरण।

संस्कृत वर्णमाला व उच्चारण स्थान। संस्कृत व्याकरण।  Sanskrit varnamala or uchcharan stan…
 प्रमुख संस्कृत शब्दरूप

प्रमुख संस्कृत शब्दरूप

" रामादि " सभी प्रमुख शब्दरूप।  संस्कृत व्याकरण संस्कृत सीखने के लिए बहोत ही म…
व्याकरण का सरल परिचय

व्याकरण का सरल परिचय

व्याकरण विषय का एतिहासिक परिचय:- भाषा लोक व्यवहार चलाती है। अर्थात लोगो को व्यवहार करने क…
निरुक्त वेद का एक अंग

निरुक्त वेद का एक अंग

वेद का अंग निरुक्त (कान) जो वेदों में सीधे उक्त नही है वह जान सके उस हेतु से जो पद रचे गए…
कल्प वेद का एक अङ्ग

कल्प वेद का एक अङ्ग

वेद का अङ्ग कल्प (हाथ)। ब्राह्मणकाल में याग - अनुष्ठानों का ऐसा प्रचार हुआ , की जिससे इ…
छंद वेद का अङ्ग

छंद वेद का अङ्ग

वेद का अङ्ग छंद(पैर) वेदमंत्रों को ऋषियों ने छन्दों में प्रस्तुत किया है अतः छंद के ज्ञा…